लावारिस नवजात शिशु को चाइल्ड हेल्पलाइन सोसाइटी को सौंपा

Target Tv

Target Tv

लावारिस नवजात शिशु को चाइल्ड हेल्पलाइन सोसाइटी को सौंपा

महेश शर्मा
धामपुर। स्योहारा थाना क्षेत्र स्थित ग्राम मकसूदपुर में ममता की छांव से महरूम एक नवजात शिशु लावारिस अवस्था में मिला था । सूत्रों के अनुसार नवजात बच्चे के जन्मदाता उसको जंगल में लावारिस छोड़ कर चले गए।बच्चे के लिए फरिश्ता बनकर अपने कुत्ते के साथ पहुंची गांव की एक महिला सुनीता को कपड़े में लिपटे बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी।जिसे कुत्ता खींच रहा था।सुनीता ने कुत्ते को भगाते हुए बच्चें को कपड़े से निकालकर अपने गले से लगा लिया।इससे पहले सुनीता बच्चे पर अपनी ममता दे पाती कि एक व्यक्ति उस बच्चे को सुनीता से लेकर वहां से चला गया।जिसके बाद बच्चे को धामपुर स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां डॉक्टरों ने उपचार के बाद नवजात बच्चे को स्वस्थ पाया।
इसके बाद लावारिस मिले नवजात बच्चे को लेने वालों की होड़ सी लग गई और सैकड़ों लोग थाने पहुंच गए।काफी गहमागहमी के बाद पुलिस ने लावारिस बच्चा मिलने की सूचना चाइल्ड हेल्पलाइन सोसाइटी को दे दी। सूचना मिलने के बाद चाइल्ड हेल्पलाइन सोसाइटी की एक टीम धामपुर अस्पताल में पहुंच गई जहां पर बच्चे का इलाज चल रहा था।उनकी मौजूदगी में एक बार फिर बच्चे की जांच डा.सुरेश चौधरी हॉस्पिटल में करवाई गई। स्योहारा थाना प्रभारी निरीक्षक धीरज सिंह सोलंकी का कहना है कि बच्चे को चाइल्ड हेल्पलाइन सोसाइटी को सौंप दिया गया है अग्रिम कार्यवाही वही करेंगे।फिलहाल अब बच्चे को गोद लेने वाले लोग अफसोस जताते हुए कह रहे हैं कि जिस बात का डर था आखिरकार वही हो गया ?

*गोद लेने के लिए कई लोग थे तैयार*

मृदुभाषी महिला सुनीता के मुताबिक उक्त बच्‍चे का जन्‍म मुश्किल से चार या पांच दिन पूर्व हुआ होगा।कोई बेरहम इसे जंगल में छोड़कर भाग गया था।जब उसने बच्चे को अपनी गोद में उठाया तो दुधमुहे बच्चे को देख उनके मन में उसके लिए प्यार उमड़ पड़ा।वहीं दूसरी ओर कई अन्य लोग भी बच्चे को गोद लेना चाहते थे,लेकिन पुलिस ने बाल कल्याण समाज की टीम को मामले से अवगत करा दिया था। जिसके बाद चाइल्ड हेल्पलाइन सोसाइटी की टीम ने अस्पताल पहुंचकर बच्चा अपने कब्जे में ले लिया।इस बीच सभी लोगों के चेहरे उतर गए।

Target Tv
Author: Target Tv

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स