बालिकाओं के लिए वरदान साबित होगा सैनिक स्कूल राजनाथ सिंह

Target Tv

Target Tv

बालिकाओं के लिए वरदान साबित होगा सैनिक स्कूल : राजनाथ सिंह

 

वृंदावन। वृन्दावन में विगत तीन दिनों से चल रहे “दीदी माँ साध्वी ऋतम्भरा षष्ठी पूर्ति महोत्सव” का समापन आज उनके साठवें जन्मदिवस पर उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथसिंह की उपस्थिति में हुआ। कार्यक्रम का शुभारम्भ समविद गुरुकुलम स्कूल के बच्चों द्वारा प्रस्तुत एक नाटिका से हुआ, जिसमें उन्होंने साध्वी ऋतम्भरा के जन्म से लेकर उनके संन्यास, रामजन्मभूमि आंदोलन में उनकी क्रान्तिकारी भूमिका और फिर वात्सल्य ग्राम की स्थापना के सफर के नयनाभिराम मंचन के साथ हुआ। आयोजन में प्रमुख रूप से बाबा रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, स्वामी रामभद्राचार्य जी महाराज, स्वामी ज्ञानानंद महाराज “गीता मनीषी”, स्वामी बालकानंद जी, आनन्दमूर्ति गुरु माँ, केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति, संत विजयकौशल जी, दिनेशचंद्र जी, अलोक कुमार जी, सहित अनेक गणमान्यजन सम्मिलित हुए।

उल्लेखनीय है कि दीदी माँ का जन्मदिन हर वर्ष “वात्सल्य दिवस” के रूप में मनाया जाता है, जिसमें देश-विदेश से उनका शिष्य मंडल और परमशक्ति पीठ के पदाधिकारी और कार्यकर्तागण एकत्रित होते हैं। 1 जनवरी को प्रातः 6 बजे से महोत्सव का शुभारम्भ हुआ जब योगऋषि बाबा रामदेव ने मंच से उपस्थित लोगों को योगाभ्यास कराया। उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि -‘जीवन में यदि अज्ञान, अश्रद्धा और अकर्मण्यता नहीं रहें तो फिर जीवन परिपूर्ण हो जाता है। दीदी माँ ने अपने जीवन में ज्ञान अर्जित किया, अपने पूज्य गुरुदेव के प्रति श्रद्धा रखी और वो हमेशा कर्मशील रहीं, इसीलिए आज वो मानवसेवा के इतने कार्य कर पा रही हैं। मतलब हेड, हार्ट और हेंड आपके पास है तो आप “हेंडसम” हो जाते हैं। आज पूज्य दीदी माँ जी के षष्ठी पूर्ति महोत्सव पर उन्हें बहुत-बहुत शुभकामनायें।

दोपहर दो बजे आरम्भ हुए मुख्य समारोह में सम्मिलित होने के लिए मुख्यमंत्री और केंद्रीय गृहमंत्री का हेलीकॉप्टर वात्सल्य ग्राम के हेलीपेड पर उतरा। समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि -पूज्य दीदी माँ जी सेवा का अद्भुत कार्य कर रही हैं। उनके वात्सल्य ग्राम की अवधारणा को देखकर लगता है कि इस प्रकार के सशक्तिकरण की आवश्यकता देश की आधी आबादी को है। मैं आज दीदी माँ जी के षष्ठी पूर्ति के अवसर पर उन्हें शुभकामनायें देता हूँ। आज यहाँ समविद बालिका सैनिक स्कूल का शुभारम्भ होना बेटियों के लिए एक सुअवसर के समान है। इसके पहले देश में कहीं भी बेटियों के लिए सैनिक स्कूल की व्यवस्था नहीं थी। ये हमारे उत्तरप्रदेश के लिए एक उपहार के समान है। इसके लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदीजी एवं रक्षामंत्री श्री राजनाथसिंह जी के प्रति आभारी हूँ, जिन्होंने इस स्कूल को सैनिक स्कूल सोसायटी के अंतर्गत रक्षा मंत्रालय से मान्यता दिलवाई।आपने अयोध्या में हो रहे राम मंदिर निर्माण की चर्चा करते हुए कहा कि इसमें दीदी माँ साध्वी ऋतम्भरा जी की बड़ी भूमिका रही, जिन्होंने श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन के अंतर्गत हिन्दू समाज में जनजागरण किया। आगामी 22 जनवरी के बाद आप अयोध्या को देखेंगे तो आपको ऐसा लगेगा कि आप त्रेतायुग में आ गए हैं। जिस अयोध्या में कभी भगवान श्रीराम का पुष्पक विमान उतरा था, अब वहां के अंतर्राष्ट्रीय विमानतल पर बड़े-बड़े विमान उतरेंगे। कुछ वर्षों पहले तक भगवान राम के अस्तित्व पर प्रश्नचिन्ह लगाने वाले आज कहते हैं कि यदि हमें निमंत्रण मिला तो हम भी श्रीराम मंदिर के लोकार्पण में 22 जनवरी को हम भी अयोध्या आएंगे।

केंद्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथसिंह ने कहा कि “आज यहाँ आपने से पहले मन में बहुत कुछ कहने के लिए था परन्तु अब इस मंच पर पूज्य गुरुदेव युगपुरुष जी और अन्य तेजस्वी संत महात्माओं का दर्शन करके करने के बाद कहने के लिए कोई शब्द नहीं बचे। हाँ, भक्तिभाव अवश्य प्रबल हो उठा है। जिनके जीवन की साधना राधा हैं, जिनके जीवन का सबकुछ राधा हैं, ऐसे मनुष्यों के जीवन में पाने के लिए और कुछ शेष नहीं रह जाता। ऐसी ही हमारी पूज्य दीदी माँ हैं, जिनकी सम्पूर्ण वृत्ति ही राधामय हो गई है। ऐसी राधारानी की अतिप्रिय दीदी माँ के षष्ठी पूर्ति दिवस पर मैं उनका कोटि-कोटि आभार व्यक्त करता हूँ, उन्हें शुभकामनायें प्रदान करता हूँ। आपने श्रीराम जन्मभूमि को धार देने का कार्य किया था, जो हिन्दू समाज पर उनका ऋण है। आज वो भगवान् योगेश्वर श्रीकृष्ण की लीलाभूमि पर सेवा के अनेक कार्य संचालित कर रही हैं, जो कि राष्ट्र निर्माण के लिए उनका अनुपम योगदान है।

इस अवसर पर युगपुरुष स्वामी परमानंदजी, केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति, आनंदमूर्ति गुरु माँ तथा कार्ष्णि गुरु शरणानंद जी ने दीदी माँ साध्वी ऋतम्भरा जी के प्रति अपनी शुभकामनायें व्यक्त कीं। कार्यक्रम के अंत में इस तीन दिवसीय की संयोजिका साध्वी सत्यप्रिया जी के साथ दीदी माँ के शिष्य मंडल ने उनका पूजन-अर्चन और आरती की। दीदी माँ जी के शिष्य पवन शर्मा, कांकरोली निवासी द्वारा सपत्नीक दीदी माँ साध्वी ऋतम्भरा जी को स्वर्ण मुकुट पहनाकर उनके चरणों में अपनी बधाई प्रस्तुत की गई। तुलादान पर उन्हें सौ किलोग्राम चांदी से तौला गया।

आयोजन में संजय भैया, जयभगवान अग्रवाल, सुमनलता, कल्याणी दीक्षित, साध्वी सत्यप्रिया, साध्वी स्वरूप, साध्वी शिरोमणि, साध्वी समन्विता, स्वामी सत्यशील, स्वामी सत्यश्रवा, साध्वी सत्यमूर्ति, साध्वी सत्यकीर्ति, साध्वी सत्यश्रुति, साध्वी सत्यनिधि, मीनाक्षी अग्रवाल, शिशुपाल सिंह, योगेश, कैप्टन हरिहर शर्मा, देवेंद्र सिंह, कुलभूषण गुप्ता, महेश खंडेलवाल, विपिन मुकुट वाले सहित बाल जी चतुर्वेदी आदि का सहयोग रहा

Target Tv
Author: Target Tv

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स